Call us +91 9571266258

Support

Categories Archives: Sojat Road

Jio का फिर से बड़ा ऐलान, अब इन यूजर्स को नहीं देने होंगे कॉलिंग के पैसे

Reliance Jio ने अपने कस्टमर्स से नॉन जियो कॉलिंग पर पैसे लेने का फैसला किया है.


लेकिन अब तक लोगों को ये कन्फ्यूजन थी कि ये कब से लागू होगा. रिलायंस जियो के एक स्टेटमेंट आया है जिसके बाद अब लोगों को इस महत्वपूर्ण सवाल का जवाब मिल गया है रिलायंस जियो ने कहा है कि जिन कस्टमर्स ने 9 अक्टूबर से पहले अपने नंबर पर रिचार्ज कराया था वो नॉन जियो यूजर्स को भी फ्री कॉल कर पाएंगे. लेकिन जैसे ही ये प्लान एक्स्पायर होगा आपको नॉन जियो कॉलिंग के लिए पैसे देने होंगे.



Reliance Jio ने एक ट्वीट किया है. इसमें कंपनी ने कहा है, ‘अगर आपने 9 अक्टूबर या इससे पहले रिचार्ज कराया है तो आप फ्री कॉल कर सकेंगे (नॉन जियो कस्टमर्स) को भी. जब तक आपका प्लान एक्स्पायर नहीं हो जाता है’ रिलायंस जियो के सबसे पॉपुलर प्लान की वैलिडिटी 84 दिन की है. लेकिन कुछ पैक्स एक साल की वैलिडिटी वाले हैं, तो क्या एक साल तक नॉन जियो कस्टमर्स पर कॉलिंग के पैसे नहीं देने होंगे? Reliance Jio ने एक ट्वीट किया है. इसमें कंपनी ने कहा है, ‘अगर आपने 9 अक्टूबर या इससे पहले रिचार्ज कराया है तो आप फ्री कॉल कर सकेंगे (नॉन जियो कस्टमर्स) को भी. जब तक आपका प्लान एक्स्पायर नहीं हो जाता है’

रिलायंस जियो के सबसे पॉपुलर प्लान की वैलिडिटी 84 दिन की है. लेकिन कुछ पैक्स एक साल की वैलिडिटी वाले हैं, तो क्या एक साल तक नॉन जियो कस्टमर्स पर कॉलिंग के पैसे नहीं देने होंगे? गौरतलब है कि TRAI ने जब IUC यानी Interconnect Usage Charge को 2017 में 14 पैसे से घटा कर 6 पैसे किया था तब कहा था कि इस साल के आखिर तक इसे 0 किया जा सकता है.



अगर आपके जियो प्लान की वैलिडिटी तीन महीने की है और आपने 9 अक्टूबर से पहले रिचार्ज कराया है तो मुमकिन है आगे भी आप फ्री नॉन जियो कॉलिंग कर पाएं, क्योंकि अगर TRAI IUC को जीरो करता है तो जियो से नॉन जियो कॉलिंग भी फ्री हो जाएगी. अगर आपके जियो प्लान की वैलिडिटी तीन महीने की है और आपने 9 अक्टूबर से पहले रिचार्ज कराया है तो मुमकिन है आगे भी आप फ्री नॉन जियो कॉलिंग कर पाएं, क्योंकि अगर TRAI IUC को जीरो करता है तो जियो से नॉन जियो कॉलिंग भी फ्री हो जाएगी. [...]

read more

विश्व प्रसिद्ध सोजत की ‘हिना’ की आड़ में अफीम तस्करी, देश के कई राज्यों से जुड़े हैं यहां के तस्करों के तार

sojat mehandi (1)

- राजस्थान से दक्षिणी प्रांत के राज्यों में होती है अफीम तस्करी

- सोजत अपहरण कांड के दौरान पुलिस को लगी भनक

- कर्नाटक, चैन्नई, हैदराबाद, पूणे में अफीम की भारी मांग, मारवाड़ से जुड़े हैं तार

- सोजत से बड़ी मात्रा में मेहंदी के पैकेट में पैकिंग कर भेजी जा रही है अफीम

अफीम तस्करों ने तस्करी के लिए अब विश्व प्रसिद्ध सोजत की मेहंदी (हिना) का सहारा ले लिया है। देश के दक्षिणी राज्य [ Southern states ] कर्नाटक, तेलंगाना, चैन्नई, पुणे में अफीम की जबदस्त मांग रहती है, ऐसे में मारवाड़ [ Marwar ] के इलाकों के अफीम तस्कर सोजत की मेहंदी के पैकेट में अफीम पैकिंग कर इन राज्यों में भेज रहे हैं। ये तस्करी ट्रांसपोर्ट के जरिए हो रही, जिसकी अब तक किसी को जानकारी नहीं है। हाल ही में सोजत में लेन-देन की बात को लेकर मेहंदी व्यापारी का अपहरण कर 15 लाख की फिरौती वसूलने के मामले की जांच के दौरान कुछ इस तरह के क्लू पुलिस को मिले हैं। कुछ ऐसे नाम भी पुलिस के सामने आए है, जो मेहंदी पैकेट की आड़ में तस्करी कर रहे हैं। पुलिस इस नेटवर्क को पकडऩे का प्रयास कर रही है।

तस्करी ऐसे कि किसी को शक न हो


पाली, जालोर, सिरोही, जोधपुर, बाड़मेर जिलों के लाखों प्रवासी हैदराबाद, बेंगलूरु, चैन्नई, पुणे, तेलंगाना आदि क्षेत्रों में रहते हैं। यहां अफीम की भी भारी मांग रहती है। सोजत की मेहंदी भी देशभर में लोकप्रिय है। सोजत से करोड़ों रुपए का माल दक्षिणी प्रांतों में जाता है। इसका फायदा उठाते हुए अफीम तस्करों ने इन मेहंदी पैकेट के बीच

[...]

read more

साेजत अस्पताल में 17 साल से अटका ट्रोमा यूनिट निर्माण धूल फांक रहे हैं भवन, उपकरण, एम्बुलेंस व दवाइयां

जिले के दूसरे बड़े साेजत अस्पताल में अाज से 17 साल पूर्व ही ट्राेमा यूनिट निर्माण की घाेषणा हाे चुकी थी, लेकिन वर्ष 2003 से 2008 तक प्रदेश में भाजपा सरकार में काबिना मंत्री रहे [...]read moreसाेजत अस्पताल में 17 साल से अटका ट्रोमा यूनिट निर्माण धूल फांक रहे हैं भवन, उपकरण, एम्बुलेंस व दवाइयां

सवराड़ में निकाली बाबा की सवारी

सवराड़ में बाबा रामदेव जी की 134वीं सवारी यात्रा शनिवार को निकाली गई। सवारी बैंड बाजों, ढोल,पंचरंगी ध्वजा, बाबा के घोड़े,अखंड जोत के साथ बाबा रामदेव मंदिर से रवाना हुई। सवारी यात्रा में प्रिंस मारवाड़ी [...]read moreसवराड़ में निकाली बाबा की सवारी

साेजत में वितरित हाे रहा मटमैला व बदबूदार पानी

शहर में जलदाय विभाग की अाेर से नागरिकाें काे पीने के लिए वितरित हाेने वाला पानी का रंग मटमैला है। लाेगाें ने बताया कि प्रदूषित पानी के सेवन से बीमारियां फैलने की अाशंका है। यह [...]read moreसाेजत में वितरित हाे रहा मटमैला व बदबूदार पानी